रत्नो के पीछे का वास्तविक अर्थ : पौराणिक कथा, प्रतीकवाद और फायदे

रत्न सिर्फ रंग बिरंगे , कीमती और महंगे सजे हुए पत्थर नहीं होते  है। वे प्रतीकवाद से समृद्ध हैं, प्रत्येक की कुछ अपनी शक्तियां होती है। यह अच्छा भाग्य लाते है और वांछित गुणों को जागते है।अगर आप गहने बनाते हो   या खरीद रहे हो – चाहे वह एक खूबसूरत माणिक की अंगूठी, या एक प्रभावशाली फ़िरोज़ा पेंडंट या एक्वामरीन की बालियां हो, -रत्नो का ये सांस्कृतिक और ऐतिहासिक महत्व आपकी ज्वेलरी को अलग आकर्षण देता है। इसलिए यदि आप ज्वेलरी खरीदने क लिए बाजार गए है और सुंदरता के साथ- साथ महत्त्व  को भी अहमियत देते है तो हमने आपके लिए सबसे लोकप्रिय रत्नों की रूपरेखा तैयार करी है ।

रत्न खरीदने से पहले की जानकारी :

1. Ruby (माणिक)

अपने तीव्र लाल रंग की वजह से माणिक को जीवन की शक्ति माना जाता है क्योंकि इसका रंग हमारे शरीर के रक्त के सामान होता है। माणिक को संस्कृत में रत्नराज भी कहते है और प्राचीन हिंदी लेखो में इसे रत्नो का राजा भी माना  गया है। निसंदेह ही यह अपने समृद्ध और शाही रूप क लिए बहुत पसंद किया जाता है । मध्ययुगीन समय में यूरोपियों में इस रत्न की मांग थी क्योंकि उनका मानना ​​था कि यह रत्न ज्ञान, प्रेम, स्वास्थ्य और धन लाता है। और आज भी, माणिक सबसे मेहेंगे  रत्नों में से एक है और आकर्षक ज्वेलरी का शौक रखने वालो की पहली पसंद बन जाता है ।

2. Saphire (नीलम)

नीलम एक नीले रंग का रत्न होता है और बहुत सारे अलग  रंगो में भी पाया जाता है जैसे की पीला, पीच, नारंगी, बैंगनी, गुलाबी, हरा आदि। हालांकि, इसका नीले रंग को ज्यादा महत्व दिया जाता है । नीलम  को आत्मनिरीक्षण और प्रतिबिंबित का प्रतिक कहा जाता है – उसे पहनने वाले को शांति ,खुशी और कल्याण की प्राप्ति होती है । इसका प्रतिष्ठित शाही नीला रंग और इसकी शक्ति  इसे सगाई की अंगूठियो में पहली पसंद बनता है।

3. Emerald (पन्ना)

हरे रंग का पन्ना  प्रकृति के पसंदीदा रंग की  प्रतिभा का प्रतीक हैं। प्रकति की सबसे अच्छी उपजो में वनस्पतियों और जीवों क बाद पन्ना को महत्व दिया जाता है ।  रानी Cleopatra पन्ना रत्न को बहुत पसंद करती थी और अक्सर इसे अपने आभूषणो में इस्तेमाल करती थी । मना जाता है की यह रत्न पहनने वाले को दूरदर्शिता और वाग्मिता प्रदान करता है ।

4. Amethyst (कटहला)

ग्रीक पौराणिक कथाओं के अनुसार, एमिथिस्ट नाम की एक लड़की थी जो ग्रीक गॉड डाइनीसस के क्रोध का शिकार हो गयी थी. गॉड डाइनीसस रेड वाइन के नशे में थे अमेथिस्ट ने देवी डायना को अपनी मदद क लिए पुकारा और देवी ने उस लड़की को  तुरंत सफेद, झिलमिलाता पत्थर में बदल दिया। जब गॉड डाइनीसस को अपनी गलती का एहसास हुआ तो उनके आशु झलक गए और रेड वाइन के गिलास में जा गिरे और वह गिलास पत्थर बानी अमेथिस्ट के ऊपर गिर गया जिससे उस पत्थर का रंग पर्पल हो गया और उसी पत्थर को  तब से अमेथिस्ट (कटहला) कहा जाने लगा. यह रत्न नशे से बचाने के लिए पहना जाता था और अब भी संयम से जुड़ा हुआ है। इसे एक चिकित्सा रत्न के रूप में भी जाना जाता है जो सिर दर्द, पीठ दर्द और शराब के उपचार में प्रयोग होता है। इसका पर्पल रंग रॉयल्टी का प्रतिक है और इसलिए यह  रत्न ब्रिटिश क्रॉवन, कैथरीन द ग्रेट के गहने और मिस्र महल के गहनों में दिखाई देता है ।

आपके राशि अनुसार रत्न

5. Aquamarine (एक्वामरीन)

Aquamarine

हरा नीले रंग का यह रत्न नीले समुद्र का प्रतिनिधित्व करता है। ऐसा मना जाता है की यह रत्न समुन्द्र में तुफानो को शांत रखता है और उसके नाविकों को सुरक्षित  रखने में सहायक है । पुरानी कहानियो के अनुसार मरमेड इस कीमती रत्न को अपने पसंदीदा नाविक को देती थी ताकि वह उन्हें सुरक्षा प्रदान करे ।यह रत्न किसी भी तरह के कपडे जैसे की दिन में पहने जाने वाले ब्राइट कलर्स या रात को पहने जाने वाले पार्टी ड्रेस के साथ बहुत सुन्दर लगता है ।अक्वामरीन शादीशुदा रिश्ते को खुशहाल  रखने में भी बहुत उपयोगी माना जाता है। तो भला क्यों न हम यह रत्न तोहफे में उनको दे जिनसे हम बहुत प्यार करते है ।

6. Turquoise (फिरोजा)

यह रत्न दिसंबर के महीने  से जुड़ा हुआ है और दिसंबर को साल का सबसे अच्छा महीना माना  जाता है। प्राचीन Egyptians इस रत्न को “मफकैट” कहते हैं, जिसका अर्थ है “प्रसन्नता”। यह हरे और आसमानी नीले रंग में पाया जाता है हलाकि इसका आसमानी नीले रंग को लोग ज्यादा पसंद करते है । बोल्ड और उज्ज्वल फ़िरोज़ा एक प्राचीन अपारदर्शी रत्न है जो आम तौर पर “कैबोकोन ”  कट में जाना जाता है और पूरे विश्व में हजारों सालों से इसका इस्तेमाल हो रहा है।माना जाता है की यह रत्न बुरी शक्तियों से हमारी रक्षा करता है , अच्छा भाग्य लाता हैं और हमारे स्वस्थ्य को सही रखे में सहायक होता है ।

7. Topaz (पुखराज)

पुखराज को कई प्रकार के रंगों में पाया जाता है जैसे  नीला, हरा, पिला , नारंगी, लाल, गुलाबी और बैंगनी रंग। नीले रंग का पुखराज बनाया जाता है और यह कलरलेस होता है । ग्रीक माइथोलॉजी के अनुसार यह रत्न अपने धारक को आत्मविश्वास और आंतरिक शक्ति प्रदान करता है । पुखराज पहनने से बुद्धिमान , सुन्दर, लम्बी उम्र और गुस्से पे काबू रखने जैसे कई फायदे होते है ।

8. Garnet (गोमेद)

गोमेद कई तरह के रंगो में पाया जाता है जैसे नारंगी, पिंक , बैंगनी, रेड और ब्लू। लाल सबसे लोकप्रिय रंग है और उपयुक्त मात्रा में उपलब्ध होता है । इसका नाम अनार की नाम से रखा गया है जो की दिखने में पत्थर जैसा ही होता है । ग्रीक पौराणिक कथाओं के अनुसार अनार को प्यार और अनंत काल का प्रतिक माना गया है।  प्यार और प्रतिबद्धता के लिए लाल रंग के आभूषण और रत्न को सबसे उत्तम उपहार माना जाता है । मिस्र के राजा और रानियों में हजारों वर्षों से गार्नेट की प्रशंसा की जाती रही है, उसके बाद Middle Ages में भी इस रत्न को लिवर की बीमारी, डिप्रेशन और बुरे सपनो से बचने क लिए प्रयोग किया जाता रहा है ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *